उत्सव और यादगार पल

रानी लक्ष्मीबाई के पराक्रम की गाथा

१५ अगस्त २०२३, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर झाँसी की रानी के जय जयकारों से गूंज उठा प्रतिभास्थली का पावन परिसर इसके साथ ही गणमान्य अथितियों के द्वारा ध्वजारोहण का कार्यक्रम संपन्न कराया गया। जिसमें विद्यालय की सभी शिक्षिकाओं व छात्राओं ने राष्ट्रीय ध्वज को सलामी देते हुए राष्ट्र के प्रति अपनी भक्ति समर्पित की। जिला प्रभारी भारतीय जनता पार्टी डॉ. अनिल यादव व जिला अध्यक्ष भारतीय जनता पार्टी श्री राजकुमार जैन जी ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की।
भारत भूमि को प्रणाम करते हुए बाल कलाकारों ने सबका मन मोह लिया, रानी अहिल्या और शांतला के रूप में कक्षा चौथी की छात्राओं द्वारा मंच संचालन किया गया। छात्राओं द्वारा भारत के स्वतंत्रता संग्राम की वीरांगना झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई की अंग्रेजों के समक्ष शौर्य, वीर, पराक्रम एवं साहस की अद्भुत झलकियाँ प्रस्तुत की। कार्यक्रम के समापन की बेला में प्राचार्या दीदी ने अपना वक्तव्य देते हुए जनता से पूछा कि क्या आज हम वास्तव में आजाद हो चुके हैं? यदि हाँ तो फिर आज भी हमारा खानपान, वेशभूषा, रहन-सहन, भाषा, औषधि सब कुछ विदेशी क्यों?

पुरस्कार वितरण समारोह

दिसंबर २०२२ में आयोजित ओलम्पियाड परीक्षा में कक्षा दसवीं की छात्राएँ सृष्टि(विज्ञान), सरगम(चित्रकला) और हर्षिता जैन (अंग्रजी और निबंध) राज्य स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त किया। जिन्हें २००० रु की छात्रवृत्ति, प्रमाण पत्र व मैडल प्रदान किए गये।

गणतंत्र दिवस २०२३

देशभक्ति से ओत प्रोत प्रतिभास्थली की पावन पुनीत धरा पर बड़े उत्साह एवं जोश के साथ राष्ट्रीय पर्व ७६वा गणतंत्र दिवस छात्राओं ने बड़ी धूमधाम से वात्सल्यमयी आर्यिका माँ आदर्शमती माताजी ससंघ के पावन सान्निध्य में मनाया। ध्वज सलामी, तालबद्ध परेड के उपरांत भारतीय सैनिकों के बलिदान को दर्शाने वाली भावभीनी नाटिका प्रस्तुत की गई। छात्राओं द्वारा प्रस्तुत भाषण, गायन एवं वादन द्वारा सम्पूर्ण वातावरण मातृभूमि मय हो गया। माताजी द्वारा दिए गए उद्बोधन ने सभी को अतीत की भारत के अनुशासित संविधान की स्मृति दिलाई।

राष्ट्रीय युवा दिवस

स्वामी विवेकानंदजी जैसे महान युवा विचारक की स्मृतियों को संजोते हुए प्रतिभास्थली की भूमि पर राष्ट्रीय युवा दिवस १२ जनवरी २०२३ को बड़ी उत्साह के साथ मनाया गया। स्वस्थ शरीर के महत्त्व को संजोते हुए छात्राओं द्वारा सामूहिक योगा, प्राणायाम, खेल आदि का सुन्दर प्रदर्शन किया गया।